Anunaad

जिस्म और मुहब्बत..

Advertisements

हम जिस्म में मुहब्बत ढूढ़ते रहे
और रूह तन्हा रह गयी ……..

Skip to toolbar