Posted in Uncategorized

कीमत नाम की!

इतिहास मजबूत होना चाहिए, चाहे आपके आज का भूगोल कैसा भी हो ।
पीछे की बुराइयों को बदलो मगर, अपने अग्रजों का गौरव बखान जारी रखें ।।

तुम आज आये हो दुनिया में, अभी समय लगेगा अपना कद बनाने में ।
पुरखों के नाम से ही है पहचान तेरी, उनके नाम का सम्मान बनाये रखें ।।

नाम की शक्ति से होते हैं सारे काम, बाहुबल तो बस दिखाने को होता है ।
सर झुकते हैं झुकते रहेंगें, बस विरासत में मिले नाम का कद बरकरार रखें ।।

जिनका कोई नाम नही, इतिहास नही, उनकी यहां कोई पहचान नहीं ।
इतिहास गौरवशाली लिखने को तुम, मील का पत्थर लगाना जारी रखें ।।

आने वाली पीढ़ी में हुनर खूब होगा, दिखाने का उन्हें बस अवसर मिल जाये ।
नाम बताकर अनुजों का हो जाये काम, अपने नाम में वो जान भरना जारी रखें ।।

सफर लम्बा तय करने को सुनो, रास्ते में छांव का मिलना जरूरी है ।
ठहरने को पेड़ मिल जाएं रास्ते में, इसलिए बीज बोना जारी रखें ।।